जानिये केसे लुट रही है यात्रिओ को नरेन्द्र मोदी सरकार की रेलवे.....

जानिये केसे लुट रही है यात्रिओ को नरेन्द्र मोदी सरकार की रेलवे.. वीडियो में देखे…

कितना किराया था और आज कितना किराया ले रहे है और किराए की बढ़ोतरी के सामने यात्री ओ को क्या सुविधाए मिल रही है ...

10204
0
SHARE

अहमदाबाद :: नरेन्द्रमोदी सरकार के 2 साल पुरे हो चुके जिसमे ज्यादातर टेक्स की बढ़ोतरी हुई है, और टेक्स की बढ़ोतरी के सामने जनता को कोई राहत मिलती नहीं दिख रही..

भारतीय रेलवे ने 70% तक 2 साल में रेल किराया की बढ़ोतरी कर दी है, और जनता को रेलवे में अच्छे दिन की तलाश अभी भी जारी है,

हमने सर्वे किया की रेलवे में 14.20% मोदी सरकार के आते ही सीधा किराया बढ़ाया गया है, उसके बाद बजेट में और एक मुद्दा रेलवे पर डाला गया वो था डीजल के भाव पर रेलवे अपना किराया घटा सकेगी और बढ़ा भी सकेगी,

हमारे पत्रकार सागर ने जाच की के 2 साल में रेलवे में हुई बढ़ोतरी के सामने यात्री ओ को क्या सुविधाए मिली और यात्री ओ को और कोनसी अच्छे दिन वाली सुवधाए प्राप्त हुई…

ये देखिये बाथरूम की ” प्रभु की रेल ” की स्वच्छ अभियान का जीता जगता उदहारण… पैसे में बढ़ोतरी के बाद भी आज जनता को क्या मिल रहा है…

indianrailways

ये हे हरिद्वार मेल का S7 का टॉयलेट… ये देखिये हे बाथरूम जहा ना ही पानी की सुविधा है ना ही मुसाफिरों को बेठने की..

इसके लिए पत्रकार ने ” श्रध्धालु ” ओ की स्पेसियल ट्रेन ” हरिद्वार ” मेल में जाच की वहा कोच पर गए, और ना ही कोच में स्वछता प्राप्त हुई ना ही कम्पार्ट में,

और सबसे बड़ी समस्या हरिद्वार मेल के टॉयलेट की थी जिसकी वीडियो आज हम आपको दिखा रहे है, हरिद्वार में की वीडियो देखे, जिसमे आप खुद देख सकेगे की 520 रुपये खर्च करने पर भी स्लीपर क्लास के यात्री सौचालय से वंचित है.. ट्रेन में ना ही सौचालय की सुविधा है न ही पानी की..

और तो और, पानी की पाइप तक टूटी है, और बिगेर पानी के यात्री ओ की हालत क्या होती होगी, ये सिर्फ एक आम आदमी जो स्लीपर क्लास में सफर कर रहा है वो ही जान सकता है…

2014 से पहले अहमदाबाद से हरिद्वार का सफर सिर्फ 307 रुपये में स्लीपर क्लास में होता था, जो आज दो साल में 70% तक किराया बढ़ा के नरेन्द्र मोदी सरकार ने 520 रुपये तक ले रहे है… जो एक आम आदमी आम इंसान, गरीब मध्यमवर्गीय जनता के लिए एक कर का बोज़ ही है…

बढ़ोतरी के नाम पर सुविधाए देने का वादा करने वाले नरेन्द्र मोदी सरकार और रेलवे मिनिस्टर सुरेश प्रभु नाकाम रहे है.. और जनता की कमर टूट रही है, ना ही सुविधाए मिल रही है न ही राहत…

इससे आप को पता चल सकता है की अच्छे दिन के नाम पे नरेन्द्रमोदी सरकार ने सिर्फ और सिर्फ जनता की जेब खाली की है, अच्छे दिन आम जनता किसान और मध्यमवर्गीय लोगो के सिर्फ सपने बन के रह गए…

क्या सुरेश प्रभु, नरेन्द्रमोदी इन ट्रेन ओ की सुविधाए बढायेगे ?
क्या नरेन्द्रमोदी, सुरेश प्रभु, इन मध्यमवर्गीय लोगो की ट्रेन को सुधार पायेगे ?

2 साल में तो कोई बदलाव दिखा नहीं, जनता आज भी ट्रेन की सुविधाओ से वंचित रही है…
क्या आम आदमी, जनता, मध्यमवर्गीय लोगो के अच्छे दिन लायेगे मोदी जी ?
क्या सुरेश प्रभु ने जो किराया बढ़ाया है उसके सामने जनता को सुविधाए देगे ? या फिर ऐसे ही ” प्रभु ” की ट्रेन चलेगी ?

जनता आज भी उम्मीद लेके बेठी है की आम जनता, गरीब, मध्यमवर्गीय लोगो के अच्छे दिन आयेगे ? देखना ये हे की मोदी सरकार अब जनता के लिए कुछ करती है या नहीं…

NO COMMENTS