बाज़ार की नजर: जीएसटी, तिमाही परिणाम तय करेंगे दिशा.. क्या जीएसटी पास...

बाज़ार की नजर: जीएसटी, तिमाही परिणाम तय करेंगे दिशा.. क्या जीएसटी पास होगा ?

197
0
SHARE
File Image

मुंबई :: पिछले सप्ताह शेयर बाजार में उतार-चढ़ाव और कुछ बड़ी कंपनियों के प्रथम तिमाही के मिश्रित नतीजों के बावजूद तेजी का दौर रहा। इस सप्ताह शेयर बाजार की चाल वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) विधेयक, विदेशी निवेशकों, मानसूनी बारिश और तिमाही परिणामों के साथ ही वैश्विक संकेतकों पर निर्भर करेगी। इस सप्ताह निवेशकों की निगाह बड़ी कंपनियों के तिमाही परिणामों पर रहेगी। रिलायंस इंडस्ट्रीज ने तिमाही परिणाम शुक्रवार को बाजार बंद होने के बाद जारी किया था। इससे बाजार पर उसका असर सोमवार को दिखेगा।

हिंदुस्तान यूनिलीवर का परिणाम आज आएगा

इसके अलावा सोमवार को हिंदुस्तान यूनिलीवर का परिणाम आएगा। अल्ट्राटेक सीमेंट और विप्रो का परिणाम मंगलवार को जारी होगा। केयर्न इंडिया, एचडीएफसी बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक अपने तिमाही परिणामों की घोषणा गुरुवार को करेंगे। एक्सिस बैंक का परिणाम शुक्रवार को आएगा। तिमाही परिणाम सामान्यतया जुलाई के दूसरे सप्ताह में शुरू होते हैं और यह अगस्त के दूसरे सप्ताह तक चलते हैं।

निवेशकों की निगाह मानसून पर भी रहेगी। भारत मौसम विज्ञान विभाग ने कहा है कि मानसून ने पूरे देश को अपनी हद में ले लिया है। मौसम विभाग ने इस बार औसत से अधिक बारिश की संभावना जताई है। देश में खेती का 70 फीसदी रकबा बारिश पर आश्रित है।

जीएसटी पर टिकी बाज़ार की नजर..

संसद का मानसून सत्र सोमवार से शुरू हो रहा है और निवेशकों को इस सत्र में जीएसटी विधेयक के पारित होने का भरोसा है। इससे देश में अप्रत्यक्ष कर युग की समाप्ति हो जाएगी। संसद का मानसून सत्र 18 जुलाई को शुरू होगा और यह 12 अगस्त को सत्रावसान होगा।

विश्लेषकों का पूरा ध्यान जीएसटी पर लगा हुआ है। जिफिन एडवाइजर्स के देवेंद्र नेवगी ने कहा, “संसद के मानसून सत्र, खासकर जीएसटी से जुड़े घटनाक्रम पर करीबी नजर रहेगी। बाजार की जीएसटी पर सकारात्मक नतीजों की उम्मीद है। नकारात्मक नतीजा निराशा की वजह बन सकता है।” जियोजित बीएनपी परिबास फाइनेंशियल सर्विसेज के मुख्य विपणन रणनीतिकार आनंद जेम्स ने कहा कि नीस में हुए आतंकी हमलों की वजह से निवेशक शुक्रवार को जोखिम लेने से बचते दिखे। लेकिन, सरकारी बैंकों के साथ-साथ उन सभी शेयर में अच्छा लाभ दिखा जिनका संबंध जीएसटी संबंधित क्षेत्रों से है।

पिछले सप्ताह बंबई स्टाक एक्सचेंज (बीएसई) का प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स और नेशनल स्टाक एक्सचेंज (एनएसई) का सूचकांक निफ्टी दोनों में ही 2.6 फीसदी की तेजी रही। हालांकि सप्ताह के आखिरी कारोबारी दिन सूचकांक गिरावट के साथ बंद हुए।

पिछले सप्ताह 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स में 709.60 अंकों यानी 2.62 फीसदी की तेजी रही और यह 27,836.50 पर बंद हुआ। सेंसेक्स के 30 में से 25 शेयरों में तेजी रही। वहीं 51 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी में 218.20 अंकों यानी 2.62 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई और यह 8541.40 पर बंद हुआ।

बीएसई मिडकैप सूचकांक में 2.06 फीसदी और स्मालकैप सूचकांक में 0.02 फीसदी की तेजी रही। पिछले हफ्ते 11 जुलाई से 15 जुलाई के बीच विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने 8,297.40 करोड़ रुपये की खरीदारी की, वहीं विदेशी संस्थागत निवेशकों ने 3,890.35 करोड़ रुपये की खरीदारी की।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY