मोदी सरकार ने बदला इंदिरा आवास योजना का नाम, अब ये कहा...

मोदी सरकार ने बदला इंदिरा आवास योजना का नाम, अब ये कहा जाएगा

2608
0
SHARE
  • इस बीजेपी की नरेन्द्र मोदी सरकार में योजना के नाम बदलने की फेशन हो जेसे हर योजना के नाम बदल रहे है.. जनधन, डीबीटीएल, डिजिटल इंडिया, मेक इन इंडिया जेसी कोंग्रेस की कई योजना के नाम बदले है.. 
  • बीजेपी की नरेन्द्र मोदी सरकार 30 साल के बाद की पहली बहुमति की सरकार है, और कुछ काम किये हो या ना किये हो, खुद ने कोई योजना नहीं बनायीं पर बीजेपी की नरेन्द्र मोदी सरकार ने कोंग्रेस की हर योजना का नाम बदल दिया है..

नई दिल्ली। मोदी सरकार ने राजीव गांधी द्वारा शुरु की गई इंदिरा आवास योजना का नाम बदल दिया है। अब इस योजना का नाम प्रधानमंत्री आवास योजना कर दिया गया है। हालांकि ग्रामीण विकास मंत्रालय ने नाम बदलने की कोई पुख्ता वजह नहीं बताई है। इसे अगले महीने जारी किया जाएगा।

146

इंदिरा आवास योजना का नाम बदलकर प्रधानमंत्री आवास योजना कर दिया गया है

नई योजना के तहत सरकार का लक्ष्य 2019 तक एक करोड़ घर बनाने का है। इंदिरा आवास योजना के तहत चालू वित्त वर्ष (2015-16) में सरकार ने 38 लाख घर बनाने का लक्ष्य तय किया है। इनमें से 10 लाख घरों को निर्माण हो चुका है। पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने 1985 में ग्रामीण आवास योजना आइएवाई शुरू की थी। आइएवाई अगले साल एक अप्रैल से विधिवत पीएमएवाई में शामिल हो जाएगी।

145

1985 में राजीव गांधी द्वारा लांच की गई इंदिरा आवास योजना में केंद्र और राज्य सरकार की क्रमशः 60 व 40 फीसदी की भागीदारी है। पूर्वोत्तर राज्यों में केंद्र सरकार इस योजना में 90 फीसदी का तो केंद्र शासित प्रदेशों में सौ फीसदी का योगदान करती है। नई योजना यानी प्रधानमंत्री आवास योजना में केंद्र और राज्यों के बीच बजट वितरण का प्रावधान यही रहेगा लेकिन अनुदान सीधे उन लाभार्थियों के बैंक खाते में जाएगा, जो 2011 की सामाजिक-आर्थिक जनगणना के मुताबिक चुने जाएंगे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY